क्या आपको एलर्जी है ?  लो मिल गया इसका समाधान

  Beats     Share 0 beats 27 views

आजकल के दौर में एलर्जी सबसे बड़ी समस्या बन चुकी है . खासकर युवा और बच्चों में इसका प्रमाण ज्यादा दिखाई दे रहा है . एलर्जी को पैदा करने वाले तत्व कोई नुकसान पहुचने वाले कीटाणु या विषाणु नहीं होते हैं, बल्कि यह तो अहानिकारक तत्त्व होते हैं, जिसमे गेंहू ,बादाम  और वातावरण में कुछ जो प्राकृतिक तत्व होते हैं .

आयुर्वेद के अनुसार एलर्जी का मुख्य कारण है ; पाचक अग्नि ,कमजोर ओज शक्ति आदि. जब पाचक से भोजन अपचित होता हैं  इस अपक्व  भोजन से  चिकना विषैला पदार्थ पैदा होता है, जिसे अम्ल कहते हैं,  जो एलर्जी का मुख्य कारण  है . एलर्जी का  एक और मुख्य कारण मानसिक  विकार भी माना गया है . 

लक्षण:

1. आँखों में जलन ,खुजली और आँखे लाल हो जाती है .

2. बारिश के मौसम में एलर्जी तुरंत होने की संभावना रहती है जिसमे त्वचा पर खुजली होना ,दाने निकलना और त्वचा लाल होती है .

3. सांस लेने में तकलीफ होती है .

4. चक्कर आना

5. सिर दर्द होना

6. नाक में से बार - बार पानी निकलना

आंतरिक कारक ( कारक जो मानव शरीर के अंदर आधारित हैं ) एलर्जी का कारण है जो आनुवंशिकता, लिंग, जाति और उम्र को शामिल करते हैं | बाहरी कारक (कारक जो आस-पास या पृथ्वी पर मौजूद हैं) में किशोरावस्था, प्राकृतिक प्रदुषण , एलर्जी के स्तर और आहार परिवर्तन के दौरान संक्रामक बीमारियों के परिचय में परिवर्तन शामिल हैं |

 

एलर्जी का आयुर्वेदिक उपचार:

आयुर्वेदिक उपचार से रोगों को जड़ से नष्ट किया जा सकता है . आयुर्वेद में एलर्जी का उपचार है . सही उपचार के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श लें. आयुर्वेद में रोग को ठीक होने में समय लगता है; लेकिन यह पूरी तरह से ठीक हो जाता है . इसलिए चिकित्सक के परामर्श से ही सही आहार और औषधीयो को लें. इसके लिए थोड़ा सा जीवनशैली में बदलाव करे जैसे की .....

आहार और जीवन शैली सलाह:

• रात को सोने से 2 घंटे पहले खाएं |

• पूरे दिन गर्म पानी या हर्बल चाय पीना फायदेमंद है |

• भारी पोषण, जिसमें डेयरी आइटम, तले हुए खाद्य पदार्थ, ठंडे भोजन, चावल, बीन्स और  जिन सब्जियों से एलर्जी हो दूर होना चाहिए |

• मसाले, अचार और मिर्च का  उपयोग खाना पकाने में कम करना चाहिए . शहद, नट और बीजों को मध्यम अनुपात में लेना चाहिए .

• यदि आपको धूल- मिट्टी से एलर्जी है तो घर से बहार निकलते समय मुह पर नकाब बांधे

. घर में सफाई पर विशेष ध्यान दें |

• योग और साँस लेने की गतिविधियां (प्राणायाम)  एलर्जी के लिए उपयोगी हो सकती हैं |

आयुर्वेद के बारे में अधिक जानकारी के लिए Medicalwale.com से जुड़े रहें.

                                                                          

Written by

Shweta Bhatt