नवजात बच्चों की त्वचा का खास ख्याल कैसे रखें|

Beat     Share 631 beats 3689 views

नवजात शिशु बहुत ही नाज़ुक होते है उनका बहुत ख्याल रखना पढ़ता है| त्वचा से ले कर उनके खान पिन का, खान पिन से मतलब है नवजात शिशु को सिर्फ माँ के दूध की आवश्यकता होती है| 6 माह तक उन्हें दूध के सिवा कुछ नही पिलाया जाता है| पानी तक नही पिला सकते है क्योंकि इससे शिशु को नुकसान पहुँचता है| नवजात शिशु के लिए माँ के दूध, से बेहतर कोई दूध नहीं है|

नवजात शिशु की त्वचा का खास ख्याल रखते हुवे मालिश समय के अनुसार करते रहना चाहिए, दिन में कम से कम ३ बार मालिश करते रहना चाहिए| तेल हल्का गुनगुना हो, इससे शिशु की हड्डियाँ मजबूत होती है शिशु की त्वचा बहुत ही कोमल व नाज़ुक होती है| सर्दियों के मौसम में त्वचा की नमी चली जाती है, शिशु की त्वचा खुष्क हो जाती है| मालिश के लिए जैतून तेल बहुत मुफीद साबित होता है| खून का संचार सही तरह से होता है, इम्यूनिटी पवार बढ़ती है| शिशु कि त्वचा नाज़ुक होती है इसलिए किसी भी साबुन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जितना हो सके हर्बल साबुन हर्बल चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे शिशु की नाज़ुक त्वचा पर किसी तरह का नुकसान ना हो|

नवजात शिशु के खान पिन का ख्याल और उनकी त्वचा का ख्याल रखते है उसी तरह साथ-साथ उनके कपड़ों का ध्यान रखना पढता है| कपढ़े किस क्वालिटी के है|

 

नवजात शिशु को संभालना 

बच्चे को पकड़ने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह धो लें| जन्मे बच्चे संक्रामण के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं, क्यूँकि उनकी प्रतिरक्ष प्रणाली इतनी मजबूत नहीं होती| ध्यान रखे आप जीन बच्चे को हाथ लगाए आपके हाथ साफ़ हो, यानि हाथों को अच्छे से धो लें|

बच्चों को लपेट के रखना चाहिए कॉटन के कपड़ों में इस से बच्चे सुरक्षित रहते है और उनके हाथ पैर भी सुरक्षित रहते है|

बच्चे को झटका लगने से बचाए इस बात का पूरा ध्यान रखे के बच्चे को झटका ना लगे, झटका लगने से मतलब है उन्हें नींद से उठाना हो तो प्यार से पैरों में गुद गुदी कर के उठाये उनके साथ खेल रहे हो तो उछाल कूद ना होने दें, झटका लगने से दिमाग में खून बह सकता है, और मौत का कारण बन सकता है|

 

नमी के लिए क्या करे

मौसम कोई भी हो, त्वचा की नमी का पूरा ख्याल रखना चाहिए| त्वचा को रूखेपन से बचाने के लिए नमी को बरक़रार रखने के लिए बादाम तेल और बेबी ऑइल, बेबी लोशन का इस्तेमाल करना चाहिए| अच्छी त्वचा के लिए तिल के तेल से नियमित रूप से मालिश करने की ज़रूरत है|

नहाने के समय जड़ी बूटियों के साथ संतुप्त क्लीन्ज़र का उपयोग करे जो बच्चे की त्वचा को साफ़ और हाइड्रेटेड रखेगा|

चंदन, दूध, हल्दी- 1 चमच हल्दी में कुछ बूंदे दूध की लेकर एक लेप बनाए और उसमे 1 चमच चंदन पाउडर मिलाएं इसका अच्छे से मिश्रण करने के बाद इसे बच्चे की त्वचा पर लगाएं यह प्रक्रिया महीने में 2 बार करें|

 

दुध, बेसन और गुलाबजल का इस्तेमाल- अक्सर महिलाएं बच्चे की त्वचा के लिए केवल तेल का ही प्रयोग करती है लेकिन केवल तेल का इस्तेमाल करना ही काफी नही होता है। अगर आप भी चाहती हैं, कि आपके शिशु की त्वचा की नमी बनी रहें तो कम से कम महीने में एक बार उसकी त्वचा को गुलाबजल, दुध और बेसन के पेस्ट से स्क्रब जरुर करें।

 चंदन, दुध और हल्दी का पेस्ट बनाए- अगर आप भी चाहती है कि आपके शिशु की त्वचा साफ और खिली-खिली लगे, तो उसके लिए आप चंदन, दुध और हल्दी का प्रयोग कर सकती है। इसके लिए एक चम्मच हल्दी और कुछ बूंद दूध की लेकर एक पेस्ट बना लें फिर उसमें एक चम्मच चंदन का पाउडर मिला लें, इस पेस्ट को अच्छे से मिला कर एक गाढ़ा सा पैक बना लें। उसके बाद महिनें में कम से कम एक या दो बार इस पैक को अपने शिशु की त्वचा पर लगांए। इससे उसकी त्वचा साफ हो जाएंगी।

 

चंदन, दूध, हल्दी

1 चमच हल्दी में कुछ बूंद दूध की लेकर एक लेप बनाए और उसमे 1 चमच चंदन पाउडर मिलाएं इसका अच्छे से मिश्रण करने के बाद इसे बच्चे कि त्वचा पर लगाएं ये प्रक्रिया महीने में 2 बार करे|

समय समय पर डॉक्टर से मिलिए

नवजात बच्चे को नियमित रूप से डॉक्टर के पास ले जाए| बच्चा जब तक 1 साल का ना हो जाए तब तक वक़्त - वक़्त पर डॉक्टर से मिलते रहिए| यदि आप को बच्चे में कुछ असामान्य नज़र आएं, तो यह ज़रूरी है की आप तुरंत डॉक्टर से मिलिए|

पहले महिलाएं बच्चे के लिए सिर्फ तेल का इस्तेमाल करती थी बदलते वक़्त के साथ साथ अब सब बदल गया है| सिर्फ तेल का इस्तेमाल करना काफी नहीं होता है| कम से कम महीने में एक बार दूध, गुलाब पानी, और उसमे बेसन मिला कर मालिश करे इससे त्वचा की सारी गंदगी साफ़ होती है|

नवजात शिशु का सही तरह से पूरा ख्याल रखे उसकी त्वचा का ध्यान रखे क्योंकि त्वचा बहुत ही नाज़ुक होती है और बहुत जल्द उनकी त्वचा पर असर पढ़ता है| आपकी समझ में ना आए तो बच्चे के डॉक्टर से कंसल्ट करें डॉक्टर से मिलिए|

 

अधिक जानकारी के लिए Medicalwale.com से जुड़े रहें |

 

Wrriten By

Tabassum