स्वस्थ किडनी के साथ जिएं सालों साल – वर्ल्ड किडनी डे

Beat     Share 1 beats 127 views

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी विश्व किडनी दिवस मनाया जा रहा है इस दिवस की खासियत लोगों में जागरूकता फैलाना है,  इस वर्ष 14 मार्च 2019 "वर्ल्ड किडनी डे" मनाया जा रहा है|

एक रिपोर्ट के मुताबिक हर साल 6 लाख महिलाओं की मौत हो जाती है किडनी रोग के कारण जानिए रोग के लक्षण|

किडनी का काम करना बंद कर देने को क्रॉनिक किडनी डिजीज (CKD) के नाम से जाना जाता है| शरीर का हर पुर्जा अपने-अपने हिस्से का काम बिना रुके करता है अगर किसी तरह की लापरवाही हो तो, बीमारी बढ़ने लगती है एक हिस्से का रोग शरीर के दुसरे अंगों पर असर डालता है| शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग किडनी हैं, खानपान की वजह से किडनी ख़राब होने की समस्या आम बात हो गई है|

किडनी शरीर के अन्य अंगों की तरह बहुत महत्वपूर्ण हैं| यह इतने नाज़ुक होते है कि इसके असंतुलित होने से पुरे शरीर की स्थिति बिगड़ जाती है|

किडनी शरीर के सभी हानिकारक और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने का कम करती है, यह खून को साफ़ कर के सभी विषाक्त पदार्थों को मूत्र के रूप में शरीर से बाहर करती है|

 

किडनी का महत्त्व

हर इंसान में दो किडनी होती है, अगर एक किडनी ख़राब हो जाती है तो दूसरी किडनी के सहारे इंसान जिंदा रह सकता है, दोनों किडनी के ख़राब होने से पीड़ित को ज़्यादा दिन बचा पाना असंभव होता है|

 

किडनी ख़राब होने के लक्षण

समय पर भोजन ना करना, दवाईयों का अधिक इस्तेमाल और पानी की सही मात्रा ना लेना ऐसे अन्य कारण हैं जो किडनी को प्रभावित करते हैं| ऐसे में किडनी पर भार बढ़ता है और वह काम करना बंद कर देते हैं|

बार बार पेशाब आना :- किडनी के पीड़ितों को बार बार पेशाब आता है| पेशाब करते समय जलन या बेचैनी होना, यह संकेत देता है यूरिन इन्फेक्शन का या किडनी की समस्या का|

आँखों के निचे अधिक सुजन भी किडनी के गड़बड़ी का संकेत देते है| इसके अलावा किडनी से संबंधित कई रोग ऐसे भी हैं जिनके कोई संकेत नहीं होते।

 

किडनी की सबसे बड़ी समस्या

किडनी की बीमारी सबसे बुरी होती है, क्योंकि इसके ख़राब होने का पाता नहीं चलता यह धीरे-धीरे ख़राब हो रही होती है, शरीर कई संकेत देता है जिससे अंदाज़ा लगता है कि किडनी सही से काम नहीं कर रही है|

जैसे के पेट में दर्द होना, पेट के बांयी या दायीं ओर असहनीय दर्द हो रहा तो डॉक्टर को बताइए क्योंकि यह किडनी में खराबी का संकेत हो सकता है|

 

जानिए ऐसी आदतें, जो किडनी ख़राब कर सकती है

बहुत ज़्यादा नमक खाना

शुगर के उपचार में लापरवाही

अधिक पेन किलर खाना

अधिक ध्रूमपान और शराब पीना

कम पानी पीना

सॉफ्ट ड्रिंक या सोडा ज़्यादा पीना

हाई बीपी के इलाज में लापरवाही

पेशाब आने पर रोक लेना

 

महिलाओं में ज़्यादा होता है किडनी रोग का खतरा|

10 में से 1 व्यक्ति को है किडनी रोग|

भारत में हर साल 2 लाख लोगों को किडनी रोग होता है|

40 साल की उम्र के बाद हर साल 1% की दर से कमज़ोर होने लगती है किडनी|

 

किडनी खराब होने पर मरीज को सप्ताह में कम से कम दो या तीन बार डायलिसिस देना जरूरी है| मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है| देश में सालाना 6,000 किडनी प्रत्यारोपण (किडनी ट्रांसप्लांट) हो रहे हैं| इसलिए लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बेहद जरूरी है|

हर साल 24 लाख लोगों की मृत्यु किडनी की बीमारियों के कारण होती है| विश्वभर में किडनी से संबंधित बीमारियां मृत्यु का छठा सबसे प्रमुख कारण है|

अच्छे स्वास्थ्य के लिए किसी भी तरह की लापरवाही न करें यदि किसी भी तरह की शारीरिक परेशानी हो या कोई लक्षण नज़र आएं तो तुरंत किसी विशेषज्ञ चिकित्सक से संपर्क करें|

 

स्वाथ्य संबधित जानकारियों के लिए Medicalwale.com से जुड़े रहें और अपने मोबाइल फ़ोन पर medicalwale.com एप्लीकेशन डाउनलोड करें|

 

Written By

Tabassum Shah